करवा चौथ

करवा चौथ

आपसी रिस्तो मे भक्ति से शक्ति तथा इसका समायोजन के मुल्य को निर्धिरत करता करवा चौथ का पर्व हमें सामाजिक मान मर्यादा का पाठ पढ़ाता है। रिस्तो को मजबुती के आधार को सुदृढ़ करता है। समय के साथ होने वाले परिवर्तन को नियंत्रित करके एक योग को स्थापित करता है।

Continue Reading
मां दुर्गा और युद्द भूमी

मां दुर्गा और युद्ध भूमी

बिजयादशमी का पर्व मां के शौर्य गाथा को दर्शाने का दिन है। यह हमे पाप पर धर्म की बिजय के एक युग की कहानी को कहता है। हमारे लिए तो आज भी युद्द भूमी सज जाती है और हम माता को याद करते है। माता हमें सत्य पर लड़ने की शक्ति देती है। जिससे की शांंती और स्थिरता बनी रहे। जय मां

Continue Reading
दुर्गा माता की आरती

Durga Mata ki Arti

दुर्गा की नविन आरती हमारी कामना तथा माता के प्रति हमारी अगाध लगाव को दर्शाता हमारी प्रर्थना है। हम माता से अपनी सानिध्य, तथा भक्ति के प्रगाढ़ता को व्यक्त करते है। माता के दिव्य रुप का साक्षात दर्शन से जो मार्ग दर्शन हमे प्राप्त होता है उससे हमारा पुर्ण बिकाश होता है। ये प्रार्थना हमे मार्ग दर्शक का कार्य करती है।

Continue Reading
गांधी जयंती

Gandhi Jayanti

बिश्व शांति मे गांधी के बिचारों का सम्मान हमारे राष्ट्र के इस बिचारधारा के साथ बिकाश की यात्रा का परिचायक है। भारतीये जनमानस मे गांंधी का स्थान उनके त्याग के लिये सदा जाना जाता रहेगा। हमारे बिकाश के साथ ही उनके बिचार को एक और गती मिलेगी जिससे मानव सामाज एक शांती संदेश के रुप मे उन्हे सदा याद करता रहेगा।

Continue Reading