प्यारा बचपन

प्यारा बचपन

Childhood has basic information for success in life. In this time expression of feeling is easy and no any person react seriously but this type of action makes real character of childhood. Working direction and priority of work give the strength of desire in life. Many person try to change it but this is not possible in major form. So your light part of future is visualized through you childhood.time.

जीवन को बिकाशोन्नमुख बनाने के लिए आजकल प्रयास बहुत निचे स्तर से शुरु हो गया है। व्यक्ति स्वयं भी खुद को जानने के लिए बचपन की यादोॆ का सहारा लेता है। बचपन की हर छोटी घटना का बारीकी से व्यख्या किया जाय तो हमे निर्णय लेने की क्षमता तथा प्रतिक्रिया व्यक्त करने की तरीके को आसानी से समझा जा सकता है। इसी का ख्याल जब जीवन के गंभीर चुनौती का सामना करते समय हम करते है तो हमारे सामने एक चित्र के रुप मे सबकुछ स्पष्ट हो जाता है फिर यहां से एक व्यवस्था बनाकर आगे की और यात्रा आरम्भ हो जाता है।

बचपन के इन यादों मे अनेक तथ्य समाहित होते है जिससे की हम समय के साथ आगे जाने के लिए प्रयोग कर सकते है। हमे किस दिशा मे जाना चाहिए इसका मार्गदर्शन भी हमें यहां से मिल सकता है। बचपन की स्वतंत्रता से बिकाश की जो धारा निकलती है ओ बढ़ती उम्र के साथ कहां। बढ़ती उम्र के साथ तो कई तरह की वंदिसे लागू हो जाती है उसके उपर जिम्मेदारी का प्रभार भी आ जाता है। फिर एक नियत समय सिमा के तहत सिमित संसाधन मे आगे जाना होता है। यहां सब कठीन लगता है लेकिन आगे जाने वाले के लिए यही सब आनन्द का जरीया होना चाहिए। क्योकि जहां नया है वहीं दिमाग भी स्थापित होता है और सोचने के साथ आनन्द भी आता है।

बचपन की इन यादों मे आज का मेरा मन बड़ा ही आनन्दित महसुस करता है। क्योकि यहां तो केवल वही तथ्य है जिसे हमने उस समय महसुस किया था वो सारे तथ्य जो हमारे बिचार मे नही आ सका रहे होगें लेकिन अव ऊसका प्रयोजन नही रहा। तो युँ कहे कि यादों का पल बड़ा ही बिवेकी होता है। यह हमे उद्वेलित करता है हमें जगाता है हमे आगे जाने के लिए प्रेरित भी करता है।

नोटः- यदि आपको कुछ कहना है तो अपने बिचार यहां कॉमेंट बॉक्स मे रख सकते है। यह बिचार भी पाठक के लिए उपलब्ध रहेगा। साथ ही यहां सिर्फ आपका नाम के साथ आपके बिचार को दिखाया जायेगा। आपका संदेश सब तक पहुँचे इस बिचार के साथ हम चाहते है कि आप अपने बिचार जरुर रखें तथा इसके लिंक को जरुर शेयर करें। यह हिंद।

लेखक एवं प्रेषकः- अमर नाथ साहु

सबंधित लेख को जरुर पढ़ेः-

  • 1. खुद की तलाश काव्य लेख हमें अंदर झांककर गलती सुधारते हुए जीवन मे सफलता की सिढ़ी को चढ़ने की यात्रा का बृतांत है। आप भी देख लें कही आप भी तो नही.
  • 2. गुरुर काव्य लेख हमें दैनिक जीवन से जुड़ी तोड़ जोड़ से होने वाले बिसंगती की ओर से सावधान रहने की कला की ओर ईसारा कर रहा है।
  • 3. स्वाभिमान  की कला से हमे कैसे वक्त की सिढ़ी चढ़नी है इसको व्यक्त करता यह काव्य लेख एक दृष्टि देता है।
  • 4. वक्त का आईना खुद को नियोजित करने के लिए वक्त के आईने मे खुद को देखना जरुरी होता है, यह लेख इस भाव के जागृत कर हमे एक नयी उर्जा देता है, जिससे की हम समय के साथ चल सके।’
  • 5. करोना की वर्षी करोना के यादो को संकलन करने का एक प्रयास है जो हमे एक संदेश दोता है मानवता के प्रति हमारे सतर्कता का, हमारे एकजुटता का।’, ”
  • 6. श्रधेय बिदाई बिदाई यदि यादगार बन जाये तो इसकी गाथा को याद करके जे सुख मिलता है वह स्वागत योग्य होता है।
  • 7. गुलाब का जादू फुल तो एक माध्यम है जिसके द्वारा भाव का महत्ता को समझा जाता है।
By sneha

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!